ICICI Press Release : आईसीआईसीआई लोम्बार्ड से इस दिवाली मुंबई के डिब्बेंवालों की खुशी को साइकिल की गति

Press Release आईसीआईसीआई लोम्बार्ड से इस दिवाली मुंबई के डिब्बेंवालों की खुशी को साइकिल की गति मुंबई, ता. 17 नोव्हेंबर : चाहे गर्मी हो, सर्दी हो या भारी बारिश, सफेद शर्ट, पजामा और गांधी टोपी पहने और मुंबई की जीवनरेखा के रूप में जाने जाने वाले ये लोग हर दिन दो लाख 60 हजार मुंबईकरों को दोपहर का उनके घरमे पकाया भोजन पहुँचाने में मदद करने के लिए निरंतर दौड़ते हैं । पूरी दुनिया में मुंबई के डिब्बेवाले के रूप में जानेवाले ये लोग घर से दफ्तर और पुनः घर भागदौड करके मुंबईकरों को भोजन के डिब्बे आसानीसे वितरित करते हैं । अब ये डिब्बेवाले अपने जीवन के दैनिक चक्र को फिर से शुरू करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं । लेकिन जिस साइकिलपर स्वार होकर वे डिब्बे पहुँचाते थे वही साइकल लॉकडाऊन के दौरान कई महींनो तक बिना इस्तेमाल के वजह से एकही जगहपर खडी रहनेसे एक तो वो उपयोग से बाहर है, या मरम्मत की सख्त जरूरत है । सामान्य बीमा क्षेत्र की सबसे बड़ी निजी कंपनी के रूप में प्रतिष्ठित आईसीआईसीआई लोम्बार्ड मुंबई के डिब्बेवालों की सहायता के लिए आगे आई है । कंपनी ने डिब्बेवालों को नई साइकिलें और हेलमेट प्रदान किए हैं । इसके अलावा, इस पहल के तहत कुछ साइकिलों की मरम्मत की गई है । सड़क यातायात सुरक्षा को प्राथमिकता देते हुए, कंपनी ने डिब्बेवालों को हेलमेट वितरित किए हैं ताकि वे भीड़भाड़ में भी मुंबई की सड़कों पर सुरक्षित रूप से साइकिल चला सकें । ये प्रयास कोरोना -19 महामारी के विभिन्न घटकों की मदद के लिए कंपनी के #RestartRite अभियान के अनुरूप हैं । इस अवसर पर, आयसीआयसीआय लोम्बार्ड के विशेष निदेशक (ED) संजीव मंत्री ने कहा, “हमारे ब्रांड, निर्भय वादे के दृष्टीकोन के अनुरूप, आयसीआयसीआय लोम्बार्ड लगातार जरूरत के समय अपने हितधारकों की मदद के लिए प्रयास कर रही है । मुंबई के डिब्बेवाले 1890 से इस महान व्यवसाय में काम कर रहे हैं । दो लाख 60 हजार मुंबईकरों को हरदिन उनके लंच बॉक्स बिलकुल समय पर वितरित करते हैं । हमें डिब्बेवालों को मदद करने का अवसर देने के लिए हम मुंबई डिब्बेवाला असोसिएशन को धन्यवाद देते हैं । एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में, हम मदद करने पर अपना ध्यान केंद्रित किया हैं । हम विभिन्न हितधारकों को अपने दिन-प्रतिदिन के जिंदगी को पुनः ठीक से शुरू करने में मदद कर रहे हैं । नुतन मुंबई डिब्बेवाले चैरिटी ट्रस्ट के अध्यक्ष उल्हास मूके ने आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के समर्थन के लिए अपनी कृतज्ञता व्यक्त करते हुए कहा, “ डिब्बेवाला पिछले 130 वर्षों से मुंबई को सेवाएं प्रदान कर रहा है । लेकिन वर्तमान महामारी ने हमारी सेवा को बाधित कर दिया है । हम पिछले सात महीनों से सेवा प्रदान नहीं कर पाए हैं और हमारे सदस्यों द्वारा दैनिक सेवा के लिए उपयोग की जाने वाली साइकिलें बारिश के कारण जंग खा रही हैं । इन साइकिलों के आधार पर सेवा को फिर से शुरू करना लगभग असंभव है । हम दैनिक सेवा शुरू करना चाहते हैं और इसके लिए हमें साइकिल के रूप में मदद चाहिए थी । आयसीआयसीआय लोम्बार्ड ने इस आवश्यकता को पूरा करने के लिए हमारे कर्मचारियों को हजारों साइकिलें प्रदान की हैं । मुंबई डब्बेवाला एसोसिएशन के अध्यक्ष के रूप में, मैं इस मदद के लिए उन्हें धन्यवाद देता हूं । वे भविष्य में हमारी इसी तरह मदद करते रहेंगे और हम एक-दूसरे का सहयोग करते रहेंगे । आयसीआयसीआय लोम्बार्ड ने कंपनी के इस मद्द के बारे मे जागरूकता बढ़ाने के लिए और अन्य हितधारकों को मदद के लिए एक डिजिटल फिल्म भी बनाई है । दिल को छुनेवाली फिल्म एक डिब्बेवाले के दृश्य के साथ शुरू होती है जो लॉकडाउन फिर से बढने की खबर सुनते सुनते अपने घर की खिड़की से बाहर देखता है । निराशा की स्थिति में घर से बाहर निकलते हुए, वह अपनी साइकिल को देखता है, जो बहुत चुपचाप खडी है । इसके बिना इस्तेमाल के कारण जंग धीरे-धीरे इस पर बढ़ रही है । जैसे-जैसे फिल्म धीरे-धीरे आगे बढ़ती है, फिल्म के नायक को डिब्बे के काम को फिर से शुरू करने के लिए एक फोन कॉल प्राप्त होता है । आशा की यह नई किरण उसे साइकिल की स्थिति की जांच करने के लिए आगे बढ़ने का कारण बनाती है और साइकिल के चेन को तेल लगाते समय यह अटक जाती है और टूट जाती है । परिणामस्वरूप, उसके चेहरे पर फिर से निराशा का एक रूप दिखाई देता है । लेकिन अगली सुबह वह साइकिल की घंटी की आवाज से जागता है, और जैसे ही वह घर से बाहर झौकता है, वह अपने सहयोगी को एक नई शुरुआत के लिए बुलाते हुऐ देखता है । वह अपनी बेटी को एक नई साइकिल के साथ देखते बहुत खुश होता है । ‘ जब आपको आशा का एक नया पहिया मिलता है, तो आपके लिए सपने की ओर बढ़ना आसान होता है । ‘  यह भावनात्मक संदेश के साथ फिल्म समाप्त होती है । डिब्बेवालों पर यह डिजिटल वीडियो ओगिल्वी (Ogilvy) द्वारा बनाया गया था । ओगिल्वी के कार्यकारी क्रिएटिव डायरेक्टर तलहा बिन मोहसिन और महेश परब ने इस अवसर पर कहा, “हम सभी लॉकडाउन के बाद अपने जीवन को पटरी पर लाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं । लेकिन मुंबई के डिब्बेवालों के लिए यह सफर आसान नहीं था । महीनों तक वह अपनी सेवा से दूर रहा, लेकिन लॉकडाऊन के प्रतिबंध हटने के बाद भी, जंग लगी साइकिलों ने उसकी सेवा को फिर से शुरू करना मुश्किल बना दिया । इस पहल के माध्यम से, हम उन हजारों डिब्बेवालों की आजीविका फिर से शुरू करने के लिए प्रयासरत हैं, जो घर का बना स्वस्थ भोजन मुंबई मे वितरित करते हैं । यदि कृती शब्दों से बेहतर है, तो आयसीआयसीआय लोम्बार्ड हमेशा एक ब्रांड के रूप में खड़ा होता है जो दूसरों की देखभाल करने का वादा करता है । और इस तरह, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने सही मायने में इस साल की दिवाली को गिफ्ट देने और वादों को निभाने के उत्सव में सचमुच बदल दिया है । ” आप इस वीडियो को https://youtu.be/GGCAJitJfHo पर भी देख सकते हैं । मुंबापुरी का प्रतीक बने मुंबई के डिब्बेंवालों की आजीविका में योगदान करने के लिए हर एक व्यक्ती  – https://mumbaidabbawala.in/ यह वेबसाइट के माध्यम से मदद कर सकता है । About ICICI Lombard

Read more